Get Immediate Solution Now

Your Name (required)

Your Email (required)

Mobile No.

Your Message

प्रत्येक वर्ष १ जनवरी को ही क्यों बनाया जाता है नया साल

new year 2015

१ जनवरी नया साल का आरम्भ माना गया है ।  इस नए दिन से लोग अपने नए जीवन की शुरुआत करते है तथा जीवन में कुछ नया प्राप्त करने का लक्ष्य रखते है ।

बहुत साल पहले नया साल मार्च में बनाया जाता था और यह पंचांग रोमन पंचाग के अनुसार था । उस पंचांग के अनुसार एक वर्ष  में ३०४ दिन व १० महीने हुआ  करते थे । बाद में उस पंचांग में २ महीने जनवरी और फ़रवरी भी जोड़ा गया । उसके बाद वर्ष की शुरुआत मार्च से आरम्भ होकर फरवरी के अंत तक मानी गयी ।

उसके कुछ समय बाद जूलियन ने अपना पंचांग प्रस्तुत किया जिसके अनुसार एक वर्ष में ३६५ दिन तथा १२ महीने थे । वर्ष की शुरुआत जनवरी से होती थी तथा अंत दिसंबर में था । यह पंचांग ईसाई धर्म के अनुसार माना गया था । क्रिसमस का दिन इस धर्म में सबसे महत्वपूर्ण माना  गया है| यह दिन भगवान यीशु के जन्म के रूप में बनाया जाता है । भगवान यीशु के त्याग व बलिदान को सदियों तक याद रखने के लिए क्रिसमस बनाया जाता है । यीशु ने लोगो की सेवा में अपना सम्पूर्ण जीवन अर्पित कर दिया । उनके इसी सेवा भाव को लोग कभी नहीं भूलना चाहते थे इसीलिए उन्होंने क्रिसमस का दिन मानना शुरू  किया ।

लेकिन इस क्रिसमस का कोई एक दिन निश्चित नहीं था । कभी यह नए साल के बहुत दिन बाद बनाया  जाता था और कभी नए साल के बहुत दिन पहले बनाया जाता था । क्योकि नया साल का कोई एक दिन निश्चित नहीं था । इसीलिए इस दिन को निश्चित करने के लिए नया साल का कोई एक दिन निश्चित किया  गया और यह दिन १ जनवरी निश्चित किया गया । तभी से नया साल १ जनवरी को मनाया जाने लगा ।

और इस दिन को सर्वसम्मति से सभी जगह अपनाया जाने लगा और सभी इस दिन नया साल मनाने लगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  • Get Immediate Solution Now

    Your Name (required)

    Your Email (required)

    Mobile No.

    Your Message

  • Facebook Profile

  • Solution for Any Problem