libra

Libra (तुला)

Monthly Horoscope

तुला- रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते

राशि अनुसार दशा -इस समय आप 19 मार्च से 23 अप्रैल तक 36 दिन की शनि की दशा भोग रहें है जो पीड़़ाकारक समय है। इसके पश्चात् 23 अप्रेल से 24 जून तक 58 दिन की गुरू की दशा रहेगी जो कि धनहानिकारक समय हैं।

1 से 15 अप्रैल – इस समय धन सम्बंधी मामले आपके आकर्षण का मुख्य केन्द्र होंगे। आप जबरदस्त रूप से सक्रिय व ऊर्जान्वित होकर अपने लक्ष्य के पीछे दौड पडे़गे। आपका काम धन्ध प्राप्तियां, अतिरिक्त लाभ बेहद महत्वपूर्ण होंगे । इस समय कुछ अच्छे निवेश भी हो सकते हैं लेकिन आप अनुबंधों को तैयार करने में देखभाल कर सही ढंग से पढ़नें के पश्‍चात ही हस्ताक्षर करें। आपकी व्यस्ताएं, आपके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकती है आप जिस गति से भौतिक लाभ पाने के लिए दौड़ेंगे, उसी गति से आप अपने लाभों का कुछ अंश दान-पुण्य एवं सार्वजनिक कल्याण के लिए भी खर्च करेंगे। आॅफिस में परिवर्तन होनें या घर बदलनें के प्रबल संकेत है । आपको अपनें अन्दर एक बैचेनी का अनुभव हो सकता है क्‍यों कि आप कार्य को जल्दी से जल्दी कर देना चाहते है। यह आपके अधैर्य का ही नतीजा है।

16 से 30 अप्रेल – आप शानदार तरीके से लोगों तक अपनी पहुंच बनायेंगे । यहां तक कि व्यावसायिक सौदों में भी अपनी भूमिका निभायेंगे। आप सम्पर्क स्थापित करने में आधुनिक टेक्नोलोजी का भरपूर उपयोग करेंगे। आप नये सम्पर्क व अनुबंधों को जोड़नें में सफल होंगे। वह ऐसा समय है जब आप सक्रिय रहेंगे, प्रगति करेंगे और पैसा कमायेंगे। वहीं आप इसे बाटेंगे व दूसरों की मदद करेंगे और संतुष्टि का अनुभव करेंगे। आप नयी परियोजना, उधम, उपक्रम यहां तक कि कोई नया व्यवसाय शुरू करने के बारे में भी रूपरेखा तैयार करेंगे। आप कार्य की बारीकियों से ध्यान केन्द्रित किरते हुए सतर्कता पूर्वक नियोजित करने की कोशिश करेंगे। आपका हद से ज्यादा सामाजिक व आर्थिक उपलब्धियों की तरफ से रूझान होगा व शीघ्र लाभ बटोरने की जो योजना होगी इससे आपका दाम्पत्य जीवन अव्यवस्थित हो जायेगा।

 इन्हें अपनाए¡ कष्टों से निजात पा¡ए :

  1. हीरा, नीलम एवं पन्ना रत्न अथवा इनके उपरत्न धारण करने चाहिए।
  2. सातमुखी एवं आठमुखी रूद्राक्ष धारण करना चाहिए।
  3. ‘ॐ शं शनै’चराय नम:’ तथा ॐ रां राहवे नम:’ मन्त्र का नित्य अधिकाधिक जप करना चाहिए।
  4. भगवान गणेश, शिव एवं हनुमान जी की उपासना करनी चाहिए।
  5. काले घोड़े की नाल अपने घर एवं व्यावसायिक स्थल पर लगाए¡।
  6. शनिवार का व्रत करना चाहिए।
  7. पीपल के पेड़ पर नित्य जल चढ़नाा चाहिए तथा शनिवार को वहा¡े तेल का दीपक जलाना चाहिए।
  8. चींटियों को चुग्गा तथा कबूतरों को दाना डालना चाहिए।

 आपके लिए शुभ :-

  1. शुभ ग्रह- बुध, शुक्र  एवं शनि
  2. शुभ राशि- मिथून, तुला, मकर एवं कुम्भ
  3. शुभ रंग- सफेद, क्रीम, हरा एवं बैंगनी
  4. शुभ वार- बुधवार, शुक्रवार एवं शनिवार
  5. शुभ अंक- 5, 6 एवं 8 अंक
  6. शुभ रत्न- हीरा, नीलम एवं पन्ना
  7. शुभ रूद्राक्ष- चारमुखी रूद्राक्ष, छहमुखी रूद्राक्ष एवं सातमुखी रूद्राक्ष
  8. शुभ देवता- शिव, गणेश एवं हनुमान जी
  9. शुभ व्रत- शुक्रवार एवं पंचमी तिथि
  • Get Immediate Solution Now

    Your Name (required)

    Your Email (required)

    Mobile No.

    Your Message

  • Facebook Profile

  • Solution for Any Problem