sagittarius

Sagittarius (धनु)

Monthly Horoscope

धनु- ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे

राशि के अनुसार दशा – इस समय आप 22 मार्च से 19 मई तक 37 दिन की शनि की दषा का भोग रहे है जो कि पीड़ाकारक समय है।

1 से 15 अप्रेल – आपमें बौद्धिक चातुर्य, प्रचण्ड आत्‍मविश्‍वाश अदांज के चकाचैंध कर देनें वाले तूफान उठेंगे। छोटी बड़ी खिन्नताओं से इतना ज्यादा परेषान ना हो कि आप खुद पर से नियंत्रण खो दें। इन्हें शान्ति से हल किजिए। बच्चों के भविष्य के प्रति सपनें बुनना और रूचियों के अनुसार उनको ढालना आपको व्यस्त रखेगा। मकान, घर परिवार, माता पिता, आपसे ध्यान देनें की मांग जारी रखेंगे। कड़ी मषक्कत वाला रूझान जारी रहेगा। परिवार और जायदाद के मामले आपको आकर्षित करेंगे। आपके मानसिक बुनावइट, नैतिक चरित्र का महत्वपूर्ण हिस्सा है। चाहे इसके लिए कुछ भी करना पड़े आप इसे बरकरार रखने के ख्वाहिशमंद होंगे। आपके लिए कड़ी मेहनत का समय है। आप पद व शक्ति को प्राप्त करनें के लिए प्रयासरत होंगे।

16 से 30 अप्रेल – इस समय आप जन सम्बंधों, आयोजनों का प्रबंध, नये लोगों के साथ सम्पर्क करनें में रूचि दिखायेंगे साथ ही आप में अजीब सी असंतुष्टि या बैचेनी की भावना उत्पन्न हो सकती है। अतः इससे उबरनें की कोषिष कीजिए। पारिवारिक व सामाजिक व्यक्तित्व आपकी चमक को बढायेगा। रिष्तेदा, मित्र व परिचित आपमें रूचि लेंगे व समस्याओं का हल आपके पास तलाषंेगे सिर्फ यही नहीं आप भी उनकी मदद के लिए सच्चे ठोस प्रयास करेंगे। यह समय ठोस किस्म में व्यक्गित लाभ के संन्दर्भ में वृद्धि करने वाला होगा । आपको कही ज्यादा शक्ति और प्रतिष्ठा प्राप्त होगी। आप साज – सज्जा, उपसाधन, दृष्टिकोण व अपने वक्त व अन्य संसाधनों का सही ढंग से उपयोग करना सीखेंगे।

इन्हें अपनाए कष्टों से निजात पाए :

  1. माणिक्य, मूंगा और पुखराज रत्न धारण करने चाहिए।
  2. सातमुखी, आठमुखी, नौमुखी एवं दसमुखी रूद्राक्ष धारण करना चाहिए।
  3. ‘ॐ बृं बृहस्पतये नम:’, ॐ शं शनै’चराय नम:, ॐ रां राहवे नम:  तथा ॐ कें केतवे नम:’ मन्त्र का अधिकाधिक जप करना चाहिए।
  1. मृत्युंजय मन्त्र ‘ॐ जूं स:’ का जप करना चाहिए।
  2. भगवान् शिव एवं हनुमान जी की उपासना करनी चाहिए।
  3. पीपल के पेड़ पर नित्य जल चढ़नाा चाहिए तथा शानिवार को वहा¡ तेल का दीपक जलाना चाहिए।
  4. चींटियों को चुग्गा तथा कबूतरों को दाना डालना चाहिए।
  5. आध्यात्मिक गुरू बनाए¡ और उनका अधिकाधिक आशीर्वाद प्राप्त करें।

आपके लिए शुभ :-

  1. शुभ ग्रह- सूर्य, मंगल एवं गुरू
  2. शुभ शिव- मेष, सिंह, धनु एवं मीन
  3. शुभ रंग- पीला, गुलाबी, क्रीम, केसरिया
  4. शुभ वार- रविवार, मंगलवार एवं गुरूवार
  5. शुभ अंक- 1, 2, 3 एवं 9 अंक
  6. शुभ रत्न- माणिक्य, मूंगा एवं पुखराज
  7. शुभ रूद्राक्ष- एकमुखी रूद्राक्ष, तीनमुख रूद्राक्ष, पंचमुखी रूद्राक्ष
  8. शुभ देवता- सूर्य, विष्णु एवं हनुमान जी
  9. शुभ व्रत- गुरूवार एवं एकदोशी तिथि
  • Get Immediate Solution Now

    Your Name (required)

    Your Email (required)

    Mobile No.

    Your Message

  • Facebook Profile

  • Solution for Any Problem